All Information about 14 January 2021 with History Updates

All Information about 14 January 2021 with History Updates
14 जनवरी के बारे में विस्तृत जानकारी तथा मुख्य इतिहास 

 14 जनवरी 2021

मकर संक्रांति 2021?

मकर संक्रांति एक मौसमी पर्व के साथ-साथ एक धार्मिक उत्सव भी है, जिसका खासा-असर बिहार, झारखंड व आस पास के पड़ोसी राज्य जैसे कोलकाता एंव बंगाल में भी ये त्योहार काफी धूम-धाम से मनाया जाता है।  यह किसानों के लिए एक त्योहार भी है क्योंकि धान की कटाई और गेहूं को बुवाई पूरी हो गई है। और वे इसे मनाने के लिए सभी एक साथ आते हैं।

मकर संक्रांति को देश के कई हिस्सों में पतंग महोत्सव के रूप में भी जाना जाता है। 

यह आकाशीय महत्व का भी त्योहार है क्योंकि सूर्य अपनी उत्तरवर्ती यात्रा शुरू करता है और कर्क रेखा से होते हुए मकर रेखा में प्रवेश करता है।  यह त्यौहार हिंदुओं के लिए छह महीने की शुभ अवधि की शुरुआत भी है, जिसे उत्तरायण काल ​​कहा जाता है।

All Information about 14 January 2021 with History Updates

मकर संक्रांति दक्षिण एशिया के कई हिस्सों में कुछ क्षेत्रीय विविधताओं के साथ मनाया जाता है।  मकर संक्रांति को कई जगह अनेक नामों से भी जाना जाता है। जैसे बिहार में इसे खिचड़ी के नाम से जाना जाता है, और अन्य राज्य में माघी, माघ बिहू, तथा लोहड़ी, एंव दक्षिण भारत के क्षेत्रों जैसे तमिलनाडु आदि में पोंगल के नाम से जाना जाता है। ये त्यौहारों का त्यौहार कहा जाने वाला मकरसंक्रांति ही है, जिसमे एक भाई अपनी बहन के घर गुड़ और तील की बनी हुई लड्डू लेकर जाते हैं। अब अधिक दिनों का स्वागत करते हुए, सूर्य की उपासना पूजा करने का भी प्रचलन है।,बच्चों के लिए ये पर्व और पतंग का उत्सव भी है।

पोंगल पर्व 2021?

पोंगल दक्षिण भारत के सबसे लोकप्रिय फसल त्योहारों में से एक है, मुख्यतः तमिलनाडु का।  तमिलनाडु का यह चार दिवसीय त्योहार प्रकृति के प्रति आभार प्रकट करने के लिए मनाया जाता है।  पोंगल का शाब्दिक अर्थ "ओवर स्पिलिंग" है और इसे तब तक नाम दिया गया था, जब तक कि एक बर्तन में चावल उबलने की परंपरा शुरू नहीं हो जाती है।  उत्सव की अन्य परंपराओं में कोलम का चित्रण, स्वादिष्ट पोंगल का झूला और खाना बनाना शामिल है।

13 जनवरी के इतिहास

1526:- चार्ल्स पंचम (Charles V) और फ्रांसिस 1 दोनों ने मिलकर मैड्रिड की संधि पर हस्ताक्षर किया था, ताकि फ्रांसिस को बर्गंडी, इटली और फ़्लैंडर्स के ऊपर किये गए दावा को छोड़ने के लिए मजबूर किया जा सके।

1641:- 14 जनवरी को यूनाइटेड ईस्ट इंडिया कंपनी ने मलक्का के शहर पर विजय प्राप्त किया था। जिसमे सात हजा लोग (7000)  मारे गए थे।

1724:- स्पेन के राजा फिलिप पंचम (Philif V) ने अपने राज सिंहासन का त्याग कर दिया था।
Philif V 1 नवंबर 1700 से लेकर 14 जनवरी 1724 तक स्पेन के सिंहासन पे राज किया था, और फिर 9 जुलाई 1746 को उनकी मृत्यु हो गई।
18 साल के उम्र में ही फिलिफ़ पंचम ने अपने से 5 वर्ष की छोटी लड़की मारिया से विवाह किया था।
फिलिफ़ का जन्म 19 दिसंबर 1683 को वर्साय का महल, फ्रांस में हुआ था।

1761:- पानीपत की तीसरी लड़ाई सत्रहवीं सदी की सबसे बड़ी लड़ाई में से एक है। ज्यादातर अफगानी मुस्लिम तथा दुरानी साम्राज्य व उत्तरी भारत के ज्यादातर हिंदू एंव मराठा साम्राज्य को हराया था।आंकड़े के अनुसार अनुमानित साठ हजार से 70 हजार लोग लड़ाई में मारे गए थे। तथा लगभग 40,000 से भी ज्यादा मराठा कैदियों का बाद में नरसंहार कर दिया गया था।

1784:- अमेरिकी क्रांतिकारी युद्ध के मुख्य नायक तथा पेरिस समझौते की संधि की पुष्टि करने वाले अमेरिकी कांग्रेस के संघ ने  समाप्त कर दिया था ।

2011:- ट्यूनीशियाई राष्ट्रपति बेन अली ने जैस्मीन क्रांति के रूप में विख्यात होने वाले नेता लोगों के विरोध के बाद भाग कर सऊदी अरब चले गए थे।

14-01-2021 (Thursday) (वृहस्पति वार)(बुध)

विक्रमसंवत: 2077 (प्रमादी) इस सवंत्सर का नाम है!
शकसंवत: 1942 (शार्वरी) शार्वरी, श्री शालिवाहन शकसंवत का नाम है!

कुंडली:- धनु (Sagittarius)
राशि:- मकर (Capricorn)
ऋतु:- हेमंत (Hemant)
दिशा (Ayana) :- दक्षिणायन (Dakshinayana)

तिथि:- शुक्ल प्रतिपदा 9:2:4तक
योग:- वज्र 22:4:10 तक
नक्षत्र:- श्रवण 29:5:45 तक
करण:- बव (Taitil) 9:3:4 तक

15 जनवरी के बारे में विस्तृत जानकारी तथा मुख्य इतिहास (ClickHere)

Previous
Next Post »